Tag: आनंदमय कोष तक स्पर्श करने के लिए शरीर के तीनों आयाम का योग आवश्यक है आप स्वभाव से ही आनंदित हो सकते हैं।