Tag: आपके घोषणा में इतनी तीव्रता होनी चाहिए की चारों ओर हलचल मच जाये समुन्द्र ने हनुमान जी के बाहुवल के कारण उनको श्री रघुनाथ जी का दूत समझकर मैनाक पर्वत से कहा कि है अपने ऊपर इन्हे विश्राम दे।