0 Comments

सचेतन 2.97 : रामायण कथा: सुन्दरकाण्ड – रावण के प्रभावशाली स्वरूप को देखकर हनुमान जी के विचार

“धर्म युद्ध की गाथा: हनुमानजी का पराक्रम” नमस्कार श्रोताओं! स्वागत है आपका हमारे सचेतन के इस विचार के सत्र “धर्मयुद्ध की कहानियाँ” में। आज की कहानी है ‘रावण के प्रभावशाली स्वरूप को देखकर हनुमान जी के मन में उठे विचार’। यह कहानी हमें ले चलती है उस क्षण में जब वीर हनुमान जी ने राक्षसराज…