0 Comments

सचेतन 236: शिवपुराण- वायवीय संहिता – भगवान शिव ने उपमन्यु को अपनी परम भक्ति प्रदान किया

उपमन्यु शिव और पार्वती के पुत्र के समान हैं  भगवान विष्णु के अनुरोध करने पर शिवजी ने बालक उपमन्यु के संकल्प की परीक्षा लेनी चाही और उनके पास देवराज इन्द्र के रूप में गये और कहा की तुम देवराज इन्द्र  शरण की में आ जाओ मैं तुम्हें सब कुछ दूँगा और उस निर्गुण रूद्र यानी…