Tag: वसुधैव कुटुंबकम का एकमात्र कल्याण की आकांक्षा रखें क्षीर सागर और मैनाक पर्वत अपना सनातन धर्म समझकर हनुमान जी को विश्राम करने की पेशकश की