0 Comments

सचेतन 240: शिवपुराण- वायवीय संहिता – सुस्थिर होना उत्तम तप है

भगवान विष्णु क्षीरसागर के अथाह जल में ही क्यूँ गये? आपका शून्य होना ही आपका प्राकृतिक गुण है क्योंकि इस गुण के रूप में शिव आपके साथ विराजमान हैं।  कहते हैं की यह शिव प्रलय काल आने पर भी विराजमान रहते हैं। एक बार जब भयानक प्रलय मची थी उस समय श्रीहरि भगवान विष्णु क्षीरसागर…