Tag: रावण के गुप्त भवन में भी कपिवर हनुमान्जी जा पहुँचे नितांत शुद्ध रखने की परंपरा से अंतःपुर की विशिष्टता होती है