Tag: हनुमान जी अप्रत्यक्ष उपमान अलंकार हैं। हनुमान जी से आप सीख ले कर सिर्फ़ कर्म को विशिष्टता और उत्कृष्टता के साथ करते रहें।