Tag: हे रघुनाथ जी आप सबके अंतरात्मा हैं मनोवैज्ञानिक रूप में सुन्दरकाण्ड मानवीय जीवन में आत्मविश्वास और इच्छाशक्ति बढ़ाने वाला है।

  • सचेतन 2.2: रामायण कथा: सुन्दरकाण्ड – हे रघुनाथ जी आप सबके अंतरात्मा हैं

    मनोवैज्ञानिक रूप में सुन्दरकाण्ड मानवीय जीवन में आत्मविश्वास और इच्छाशक्ति बढ़ाने वाला है। रामान्य त्रेतायुग की कथा है और सुंदरकांड लंका में त्रिकूटांचल पर्वत शृंखला में एस एक के सुंदर पर्वत के क्षेत्र की कथा है इस पर्वत में दो अन्य शृंखला हैं सुबैल पर्वत क्षेत्र जहां पर भगवान राम और राक्षस राज रावण का…